Politics

राज्यपाल सुश्री उइके ने किया मरीजों को कंबल एवं फल का वितरण : मन से बीमारी का भय निकालकर सकारात्मक सोच के साथ कराएं इलाज

राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उईके ने आज यहां महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर नगर माता बिन्नी बाई धर्मशाला में रोगियों को कंबल और फल वितरित किया। उन्होंने मरीजों से कहा कि आज के समय में कोई बीमारी लाइलाज नहीं है। जरूरत इस बात की है कि मरीज अपने मन से बीमारी के डर एवं भय को निकाल दें और सकारात्मक सोच के साथ इलाज कराएं, तो वे शीघ्र स्वस्थ होंगे।
राज्यपाल सुश्री उईके ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के बताए मार्ग पर आज चलने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि गांधी जी के स्वच्छ भारत और स्वस्थ्य भारत के नारे को अपनाएं तो बीमार होने की नौबत कम आएगी। राज्यपाल ने इस अवसर पर मरीजों से कहा कि वे अपने मन से बीमारी के डर और भय को निकाल दें और डाक्टर के बताए अनुसार आवश्यक सावधानियां बरतते हुए समय पर दवाईयां लें, तो निश्चत ही उनकी बिमारियां दूर हो जाएंगी तथा वे शीघ्र स्वस्थ्य हो जाएंगे। उन्होंने मरीजों के परिजनों से कहा कि वे मरीजों के साथ स्नेह और प्यार से बात कर उनका आत्मविश्वास बढ़ाएं, जो मरीज को शीघ्र ठीक होने में मददगार साबित होगा।
राज्यपाल ने गरीब रोगियों को खाने और रहने की सुविधा न्यूनतम दरों पर उपलब्ध कराने के लिए वैश्य सेवा सोसायटी द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। इससे गरीबों को इलाज कराने में सुविधा हो रही है। उन्होंने संस्मरण सुनाते हुए कहा कि जब वे गरीब मरीजों को देखती थी जिनके पास घर जाने के लिए पैसे नहीं होते थे, तो उन्होंने अपने सांसद मद से मध्यप्रदेश के विकासखण्डों में एम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध कराई थी और स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था की थी। राज्यपाल ने कहा कि डॉक्टर मरीजों के लिए भगवान होते हैं। उन्होंने इस अवसर पर कैंसर रोगियों का इलाज करने वाले डॉक्टर विवेक चौधरी का शाल श्रीफल से सम्मान किया।
जिला रेडक्रास सोसायटी के अध्यक्ष श्री अशोक अग्रवाल ने कहा कि यहां कैंसर का इलाज कराने के लिए छत्तीसगढ़ के अलावा सीमावर्ती प्रदेशों के मरीज भी आते हैं, जिनके रहने एवं खाने की सुविधा वैश्य सेवा सोसायटी द्वारा बहुत ही मामूली दर पर की जाती है। उन्होंने बताया कि बिन्नी बाई ने सब्जी बेचकर 15 लाख रूपए धर्मशाला निर्माण के लिए दान दिया था। बाद में इस धर्मशाला का जीर्णोधार कराया गया। उन्होंने बताया कि करीब 450 मरीजों को 50 रूपए में दो टाईम नास्ता एवं दो टाईम भोजन के साथ ही आवासीय सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। इस अवसर पर वैश्य सेवा सोसायटी के अध्यक्ष श्री सीताराम अग्रवाल ने संस्था की गतिविधियों की जानकारी दी।
इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव श्री सुरेन्द्र कुमार जायसवाल, राज्य सूचना आयोग के आयुक्त श्री मोहन पवार और जिला रेडक्रास सोसायटी तथा वैश्य सेव सोसायटी के पदाधिकारी तथा मरीज उपस्थित थे।

Follow us on facebook

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0493240