Digital social media

Mother’s Day पर Google का Doodle ममता के नाम…

आज, 8 मई 2022 को मदर्स डे मनाया जा रहा है. मदर्स डे के मौके पर गूगल ने दुनियाभर की माताओं को उनके बलिदान और त्याग के लिए याद दिया किया है.
Mother’s Day 2022 Google Doodle सर्च इंजन गूगल ने एक बार फिर अपने जाने-पहचाने अंदाज में डूडल बनाकर मदर्स डे की बधाई दी है. आज, 8 मई 2022 को मदर्स डे मनाया जा रहा है. मदर्स डे के मौके पर गूगल ने दुनियाभर की माताओं को उनके बलिदान और त्याग के लिए याद दिया किया है. बता दें कि हर साल मई महीने के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाता है. मदर्ड डे को स्पेशल बनाने के लिए कोई मां के लिए गिफ्ट खरीदता है, तो कोई सरप्राइज प्लान करता है. वहीं, कुछ लोग प्यार और इमोशन से भरे खास मैसेज और संदेश के जरिये मां को मदर्स डे विश करते हैं. ऐसे ही सर्च इंजन गूगल विशेष अवसर पर डूडल बनाता है. डूडल बनाकर गूगल ने अपने अंदाज में मदर्स डे की बधाई दी है. गूगल डूडल में मां के प्रति प्रेम, स्नेह एवं सम्मान की भावना परिलक्षित हो रही है.

Mother’s Day History कैसे हुई मदर्स डे की शुरुआत?

मदर्स डे मनाने की शुरुआत एना जार्विस नाम की एक अमेरिकी महिला ने की थी. माना जाता है कि एना अपनी मां को आदर्श मानती थीं और उनसे बहुत प्यार करती थीं. जब एना की मां की निधन हुआ, तो उन्होंने उनके सम्मान में स्मारक बनवाया और मदर्स डे की शुरुआत की. उन दिनों इस खास दिन को मदरिंग संडे कहा जाता था. एना के इस कदम के बाद अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति वुड्रो विल्सन ने औपचारिक तौर पर 9 मई 1914 में मदर्स डे मनाने की शुरुआत की. इस खास दिन के लिए अमेरिकी संसद में कानून पास किया गया और इसके बाद से मई महीने के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाने लगा.

Mother’s Day Significance मदर्स डे का महत्व

बच्चे चाहे जितने भी बड़े हो जाएं, लेकिन मां के लिए हमेशा छोटे ही रहते हैं. मदर्स डे के मौके पर दुनियाभर की माताओं को उनके बलिदान और त्याग के लिए याद किया जाता है. यह दिन उन मांओं को समर्पित है, जिन्होंने बिना किसी शर्त अपने बच्चों को बेपनाह प्यार दिया है. अलग-अलग देश अलग-अलग तारीखों पर मदर्स डे मनाते हैं. ब्रिटेन के नागरिक मार्च के चौथे रविवार को मदर्स डे मनाते हैं, जो क्रिश्चियन मदरिंग संडे पर मदर चर्च की याद में मनाया जाता है. हमें इस दुनिया में लानेवाली मां के नाम यूं तो हर दिन समर्पित होता है, लेकिन मदर्स डे वह मौका होता है जब ममता, प्यार और बलिदान के लिए मां को स्पेशल फील कराते हैं और इससे एक अलग ही तरह की खुशी होती है.

Mother’s Day History कैसे हुई मदर्स डे की शुरुआत?

मदर्स डे मनाने की शुरुआत एना जार्विस नाम की एक अमेरिकी महिला ने की थी. माना जाता है कि एना अपनी मां को आदर्श मानती थीं और उनसे बहुत प्यार करती थीं. जब एना की मां की निधन हुआ, तो उन्होंने उनके सम्मान में स्मारक बनवाया और मदर्स डे की शुरुआत की. उन दिनों इस खास दिन को मदरिंग संडे कहा जाता था. एना के इस कदम के बाद अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति वुड्रो विल्सन ने औपचारिक तौर पर 9 मई 1914 में मदर्स डे मनाने की शुरुआत की. इस खास दिन के लिए अमेरिकी संसद में कानून पास किया गया और इसके बाद से मई महीने के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाने लगा.

Mother’s Day Significance मदर्स डे का महत्व

बच्चे चाहे जितने भी बड़े हो जाएं, लेकिन मां के लिए हमेशा छोटे ही रहते हैं. मदर्स डे के मौके पर दुनियाभर की माताओं को उनके बलिदान और त्याग के लिए याद किया जाता है. यह दिन उन मांओं को समर्पित है, जिन्होंने बिना किसी शर्त अपने बच्चों को बेपनाह प्यार दिया है. अलग-अलग देश अलग-अलग तारीखों पर मदर्स डे मनाते हैं. ब्रिटेन के नागरिक मार्च के चौथे रविवार को मदर्स डे मनाते हैं, जो क्रिश्चियन मदरिंग संडे पर मदर चर्च की याद में मनाया जाता है. हमें इस दुनिया में लानेवाली मां के नाम यूं तो हर दिन समर्पित होता है, लेकिन मदर्स डे वह मौका होता है जब ममता, प्यार और बलिदान के लिए मां को स्पेशल फील कराते हैं और इससे एक अलग ही तरह की खुशी होती है.

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0357465