Chhattisgarh COVID-19

राज्यपाल से नवनियुक्त मुख्य सचिव जैन ने की सौजन्य भेंट

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से राजभवन में नवनियुक्त मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने सौजन्य भेंट की। राज्यपाल ने उन्हें नये दायित्वों के लिए शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर मुख्य सचिव जैन ने राज्यपाल को ‘पहला गिरमिटिया’ और ‘भूतो न भविष्यति’ पुस्तकें एवं पुष्पगुच्छ भेंट की और अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू ने ’भारत दर्शन’ और ’आमचो बस्तर’ नामक पुस्तकें एवं पुष्पगुच्छ भेंट की। इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव अमृत कुमार खलखो, उप सचिव श्रीमती रोक्तिमा यादव एवं नियंत्रक हरबंश मिरी भी उपस्थित थे। सीनियर ब्यूरोक्रेट अमिताभ जैन राज्य के नए चीफ सेक्रेटरी बनाए गए हैं. अब तक इस पद का दायित्व संभाल रहे आर पी मंडल के रिटायरमेंट के साथ ही राज्य शासन ने इस आशय का आदेश जारी कर दिया है. जैन राज्य के 12वें चीफ सेक्रेटरी होंगे. चीफ सेक्रेटरी के रूप में अमिताभ जैन का कॅरियर सबसे लंबा हो सकता है, वह साल 2025 में रिटायर होंगे. ऐसे में उनका कार्यकाल पांच साल का होगा.
अमिताभ जैन 1989 बैच के आईएएस अफसर हैं. इस बैच में वह छत्तीसगढ़ के अकेले आईएएस हैं. अलग-अलग विभागों में काम करने का उनके पास लंबा अनुभव है. वह लंबे समय से फाइनेंस की जिम्मेदारी संभालते आ रहे हैं. इसके अलावा वाणिज्यिक कर, गृह, जेल, परिवहन, जल संसाधन जैसे कई बड़ा पोर्टफोलियो उनके पास रहा है. अमिताभ जैन छत्तीसगढ़ की पृष्ठभूमि से आते हैं. उनकी स्कूलिंग दल्ली राजहरा से हुई है. अविभाजित मध्यप्रदेश में 11 वीं बोर्ड परीक्षा में वह टाॅपर रहे हैं. रायपुर से ही मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले जैन एमटेक हैं. केंद्र सरकार में प्रतिनियुक्ति के दौरान उन्होंने लंदन में भी कुछ वक्त के लिए सेवाएं दी है.
सरकार से बेहतर तालमेल– अमिताभ जैन शांत मिजाज के अफसर हैं. नियम कायदे में रहकर काम करना उनकी खूबी रही है. पिछली सरकार के वक्त से ही वह फाइनेंस जैसा महत्वपूर्ण विभाग संभालते आ रहे हैं. सत्ता में भूपेश सरकार के काबिज होने के बाद भी फाइनेंस की उनकी जिम्मेदारी नहीं बदली गई. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के विश्वसनीय अफसरों में उनका नाम शुमार किया जाता है. आर पी मंडल के एक्सटेंशन को लेकर राज्य सरकार की चिट्ठी पर केंद्र सरकार का सकारात्मक रूख नहीं आने के बाद से ही जैन के नाम पर चर्चाएं शुरू हो गई थी कि वह राज्य के अगले चीफ सेक्रेटरी होंगे. सरकार की कई बड़ी बैठकों में उन्हें पहले से ही बुलाया जाने लगा था. हालांकि पिछली कैबिनेट में मंडल को दी गई विदाई के बाद एक चर्चा एसीएस सी के खेतान के नाम को लेकर भी छिड़ी थी. प्रशासनिक महकमे के विश्वसनीय सूत्रों की माने तो उन्होंने पिछले दिनों मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद से यह कयास लगाए गए कि उन्होंने चीफ सेक्रेटरी बनाए जाने को लेकर चर्चा की थी. मंडल को चीफ सेक्रेटरी बनाने के दौरान सरकार ने सी के खेतान को राजस्व मंडल भेजा था. खेतान अमिताभ जैन से सीनियर हैं, लिहाजा अब उनकी मंत्रालय वापसी की संभावना खत्म हो गई है.

About the author

Mazhar Iqbal #webworld

Indian Journalist Association
https://www.facebook.com/IndianJournalistAssociation/

Add Comment

Click here to post a comment

Follow us on facebook

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0504029