Business National

शेयर बाजार में 500 से ज्यादा अंक की बढ़त,Jio Facebook Deal का असर

Share Market Today 22 April 2020/ Share Market Today 22 April 2020: शेयर मार्केट पर बुधवार को Jio Facebook Deal का असर देखने को मिला। जैसे ही खबर आई कि Facebook ने Reliance Jio में 9.9 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है, बाजार में रौनक लौटने लगी। खबर लिखे जाने तक सेंसेक्स 538 अंकों की तेजी के साथ 31181 पर रहा, वहीं निफ्टी में 142 अंकों की बढ़त के साथ 9124 पर ट्रेडिंग हुई। रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 10 फीसदी चढ़ा। इससे पहले प्री-ओपनिंग में बुधवार को मामूली तेजी देखी गई। सुबह 9.25 बजे सेंसेक्स 155 अंकों की तेजी के साथ 30,798 पर रहा। वहीं निफ्टी में 36 अंकों की बढ़त रही और यह 9,013 पर रहा। वहीं 9.36 बजे सेंसेक्स में 92 अंकों की तेजी रही और निप्टी महज 10 अंकों की बढ़त के साथ 9000 से नीचे रहा। इससे पहले मंगलवार को कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट ने दुनियाभर के शेयर बाजारों का मूड बिगाड़ दिया था। इसका असर घरेलू बाजार पर भी हुआ और सेंसेक्स एक हजार अंक से ज्यादा टूट गया था।अमेरिकी कच्चा तेल डब्ल्यूटीआई की कीमत सोमवार को माइनस 37 डॉलर से भी नीचे चली गई थी। इससे मंगलवार को सेंसेक्स 1,011.29 अंक (3.20 प्रतिशत) गिरकर 30,636.71 पर बंद हुआ था। निफ्टी भी 280.40 अंकों की गिरावट के साथ 8,981.45 के स्तर पर रहा था।
बफे ने तीन दशक पहले ही लगा लिया था ऐसे हालात का अंदाजा
दिग्गज निवेशक वॉरने बफे ने 1987 में हैथवे के शेयरधारकों को लिखे पत्र में दो बड़ी बीमारियों का जिक्र किया था। बफे ने कहा था, ‘इन महामारियों के समय के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। इनसे मचने वाली उथल-पुथल के समय और तीव्रता के बारे में भी नहीं बताया जा सकता।’ यह तय है कि इस दिग्गज निवेशक ने 2020 में कोरोना वायरस की महामारी का अनुमान नहीं लगाया था। असल में उन्होंने जिन दो बीमारियों का जिक्र किया है, वे हमेशा निवेशकों के जेहन में रहती हैं। उन्होंने इन्हें डर और लालच नाम दिया था।
बहरहाल, दुनियाभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 25 लाख पहुंचने वाली है। इनमें से करीब एक तिहाई मामले बफे के ही देश अमेरिका में हैं। कोरोना का संक्रमण भारत में भी बढ़ रहा है। लेकिन, इसकी रफ्तार कम है। भारत घनी आबादी वाला देश है। यहां गरीबी भी बड़े पैमाने पर है। ऐसे में शुरुआती सफलता के बाद इस बात की आशंका खारिज नहीं की जा सकती कि भारत में हालात बेकाबू नहीं हो सकते। बावजूद इसके घरेलू शेयर बाजारों में सोमवार तक जोश दिखा, क्योंकि इस समय लालच हावी है। लेकिन, मंगलवार को डर हावी होता नजर आया। सेंसेक्स ने सोमवार तक मार्च के न्यूनतम स्तर से करीब 6,500 अंक या 25 फीसदी की छलांग लगाई। इससे पहले, कोरोना महामारी के चलते यह बेंचमार्क इंडेक्स ने जनवरी के सबसे ऊंचे स्तर से 39 फीसदी तक नीचे फिसल गया था। तब बाजार पर डर की बीमारी हावी थी।

Follow us on facebook

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0504055