Ambikapur Chhattisgarh कांग्रेस पार्टी सरगुजा

हसदेव अरण्य में वनों की कटाई का कांग्रेस ने किया विरोध, पेड़ों की कटाई रोकने की मांग

कांग्रेस ने हसदेव अरण्य क्षेत्र में वनों की कटाई, भाजपा की सरकार बनने के बाद सच हुई राहुल गांधी ये बात…

कुछ लोगों को फायदा पहुंचाने पेड़ों को कटवा रही भाजपा सरकारः विकास उपाध्याय

पूर्व डिप्टी सीएम सिंहदेव ने सीएम साय को बताई जमीनी हकीकत

रायपुर 26 Dec, 2023

पूर्व उपमुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव ने हसदेव अरण्य में पेड़ों की कटाई रोकने की मांग मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय से की है। सिंहदेव ने सीएम साय से दूरभाष से बात कर उन्हें हसदेव अरण्य से जुड़े विरोध प्रदर्शन की ज़मीनी स्थिति से अवगत कराया। जहां पुराने खदानों में उत्खनन के प्रति स्थानीय लोगों के मत विभाजित हैं, वहीं नए खदानों में माइनिंग के विरोध में पूरा आदिवासी समाज एकमत हैं।
सिंहदेव ने कहा, मुख्यमंत्री जी स्वयं सरगुजा अंचल के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र और समुदाय के हैं. उन्हें आदिवासी विचारधारा, संस्कृति, परंपराएं और मान्यताओं की पूरी जानकारी है। आदिवासी समुदाय के जल, जंगल, ज़मीन के प्रति प्यार, समर्पण, निष्ठा से वो पूर्ण रूप से परिचित हैं।
सिंहदेव ने कहा, विधानसभा में सर्वसम्मति से हसदेव में नए खनन के विरुद्ध पारित प्रस्ताव का सम्मान करते हुए सरगुजा के आदिवासी समाज के हित के लिए, उनकी इच्छानुसार, मुख्यमंत्री और छत्तीसगढ़ सरकार को नए खदानों के खनन पर रोक लगानी चाहिए।
हसदेव में वनों की कटाई का कांग्रेसियों ने विरोध किया। पूर्व विधायक विकास उपाध्याय ने कार्यकर्ताओं के साथ भीम राव अंबेडकर चौक पर मानव श्रृखला बनाकर विरोध जताया। विकास उपाध्याय ने हसदेव बचाने की गुहार भी लगाई।
भाजपा के चुनिंदा नेता कुछ लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए हजारों पेड़ कटवा रहे हैं, जिसका विरोध अंबेडकर चौक में मानव श्रृंखला बनाकर किया जा रहा है। हसदेव बचाने के लिए सड़क की लड़ाई लड़ेंगे।
पूर्व विधायक विकास उपाध्याय ने कहा कि छत्तीसगढ़ के सबसे घने जंगल हसदेव अरण्य को बचाने की गुहार लगा रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी की सरकार आते ही कुछ ही दिनों में उसने आदिवासी विरोधी, किसान विरोधी नीतियों को दिखाना शुरू कर दिया है।
छत्तीसगढ़ के हसदेव अरण्य क्षेत्र में काटे जा रहे जंगल को लेकर कांग्रेस ने बीजेपी को घेरा है। कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के पहले राहुल गांधी के हसदेव अरण्य क्षेत्र को लेकर दिए गए बयान का जिक्र करते हुए कहा कि, विधानसभा चुनाव के पहले राहुल गांधी ने कहा था कि, ‘कमल पर बटन दबाने के बाद VVPAT से उद्योगपति निकलेगा’, प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद उनकी ये बात अब सच हो रही है। कांग्रेस ने हसदेव अरण्य के स्थानीय निवासियों के प्रति चिंता जाहिर करते हुए कहा कि, प्रदेश में उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए काम शुरू हो गए हैं। हसदेव अरण्य में आदिवासी जंगलों की कटाई पर विरोध जता रहे हैं, लेकिन उस क्षेत्र में किसी भी आम जनता को जाने नहीं दिया जा रहा है।
हसदेव अरण्य पर सीएम विष्णु देव साय के ‘हसदेव अरण्य की कटाई का आदेश पूर्ववर्ती सरकार ने दिया’ वाले बयान के जवाब में शुक्ला ने कहा कि, मैं सीएम के बयान का मैं खंडन करता हूँ. हसदेव अरण्य की कटाई का आदेश पूर्ववर्ती सरकार ने नहीं दिया था, बल्कि जंगल कटाई का आदेश पर्यावरण स्वीकृत केंद्र की मोदी सरकार ने दिया था। भाजपा का जनता से कुछ लेना-देना नहीं है, ये उद्योगपतियों के हितों में चलने वाली सरकार है।

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0504345