National USA

New York Assembly passed Kashmir resolution, India gave sharp process

New York (United States) (Agency). The New York State Assembly has passed a resolution requesting Governor Andrew Cuomo to declare February 5 as Kashmir American Day, to which India has reacted sharply to To divide is a “worrying” attempt by “vested interests” to misinterpret the rich cultural and social fabric of Jammu and Kashmir.
The proposal is sponsored by the Assembly member Nadar Saygh and 12 other members. The resolution states that “the Kashmiri community has overcome every difficulty, has demonstrated tenacity and has established itself as a pillar of the New York diaspora communities.” It states that “New York State strives to support human rights, including freedom of religion, movement and expression of all Kashmiri people, by recognizing diverse cultural, ethnic and religious identities.” A spokesperson for the Indian Embassy in Washington commented on the proposal, “We have seen the proposal of the New York Assembly on Kashmir American Day. Like America, India is a vibrant democratic country and the pluralistic ethos of 1.35 billion people is a matter of pride. ”
He said, “India celebrates its rich cultural fabric and its diversity, including Jammu and Kashmir. Jammu and Kashmir is an integral part of India, which cannot be separated. We express concern about the vested interests of trying to misrepresent the rich and social fabric of Jammu and Kashmir to divide the people. ” “We will communicate with elected representatives in New York State on all matters relating to the Indo-US partnership and the diverse Indian community,” the spokesperson said on Saturday while answering the question regarding the proposal.
The resolution was passed in the New York Assembly on February 3, requesting Cuomo to declare February 5, 2021 as ‘Kashmir American Day’ in New York State. The Consulate General of Pakistan in New York commended Sayigh and ‘The American Pakistani Advocacy Group’ for passing this resolution. Pakistan continues to make unsuccessful efforts to mobilize international cooperation against India due to the abolition of the special status of Jammu and Kashmir on August 5, 2019 and dividing it into two union territories as Jammu and Kashmir and Ladakh. India has told Pakistan that Jammu and Kashmir is an integral part of India and will remain and matters related to it are internal affairs.

न्यूयॉर्क असेम्बली ने कश्मीर प्रस्ताव पारित किया, भारत ने दी तीखी प्रक्रिया

न्यूयॉर्क (अमेरिका) (एजेंसी). न्यूयॉर्क स्टेट असेम्बली (New York State Assembly) ने पांच फरवरी को कश्मीर अमेरिकी दिवस घोषित किए जाने का गवर्नर एंड्रयू कुओमो (Andrew Cuomo) से अनुरोध करने संबंधी प्रस्ताव पारित किया है, जिस पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यह लोगों को विभाजित करने के लिए जम्मू-कश्मीर (Kashmir) के समृद्ध सांस्कृतिक एवं सामाजिक ताने-बाने की गलत व्यख्या करने की ‘‘निहित स्वार्थों” की ‘‘चिंताजनक” कोशिश हैं।
इस प्रस्ताव को असेम्बली के सदस्य नादर सायेघ और 12 अन्य सदस्यों ने प्रायोजित किया है। प्रस्ताव में कहा गया है कि ‘‘कश्मीरी समुदाय ने हर कठिनाई को पार किया है, दृढ़ता का परिचय दिया है और अपने आप को न्यूयॉर्क प्रवासी समुदायों के एक स्तम्भ के तौर पर स्थापित किया है।” इसमें कहा गया है कि ‘‘न्यूयॉर्क राज्य विविध सांस्कृतिक, जातीय एवं धार्मिक पहचानों को मान्यता देकर सभी कश्मीरी लोगों की धार्मिक, आवागमन एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता समेत मानवाधिकारों का समर्थन करने के लिए प्रयासरत है।” वाशिंगटन स्थित भारतीय दूतावास के एक प्रवक्ता ने इस प्रस्ताव पर टिप्पणी की, ‘‘हमने कश्मीर अमेरिकी दिवस संबंधी न्यूयॉर्क असेम्बली का प्रस्ताव देखा है। अमेरिका की तरह भारत भी एक जीवंत लोकतांत्रिक देश है और 1.35 अरब लोगों का बहुलवादी लोकाचार गर्व की बात है।”
उन्होंने कहा, ‘‘भारत जम्मू-कश्मीर समेत अपने समृद्ध सांस्कृतिक ताने-बाने और अपनी विविधता का उत्सव मनाता है। जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, जिसे अलग नहीं किया जा सकता। हम लोगों को विभाजित करने के लिए जम्मू-कश्मीर के समृद्ध एवं सामाजिक ताने-बाने को गलत तरीके से दिखाने की निहित स्वार्थों की कोशिश को लेकर चिंता व्यक्त करते हैं।” प्रवक्ता ने प्रस्ताव संबंधी प्रश्न का उत्तर देते हुए शनिवार को कहा, ‘‘हम भारत-अमेरिका साझेदारी और विविधता भरे भारतीय समुदाय से जुड़े सभी मामलों पर न्यूयॉर्क स्टेट में निर्वाचित प्रतिनिधियों से संवाद करेंगे।”
यह प्रस्ताव तीन फरवरी को न्यूयॉर्क असेम्बली में पारित किया गया था, जिसमें कुओमो से पांच फरवरी, 2021 को न्यूयॉर्क राज्य में ‘कश्मीर अमेरिकी दिवस’ घोषित करने का अनुरोध किया गया है। न्यूयॉर्क में पाकिस्तान के महावाणिज्य दूतावास ने इस प्रस्ताव को पारित कराने के लिए सायेघ और ‘द अमेरिकन पाकिस्तानी एडवोकेसी ग्रुप’ की सराहना की। पाकिस्तान पांच अगस्त, 2019 को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने और उसे जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख के रूप में दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित करने के कारण भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय सहयोग जुटाने के असफल प्रयास करता रहता है। भारत पाकिस्तान से कह चुका है कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा तथा इससे जुड़े मामले उसके आंतरिक मामले हैं।

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0302192