Chhattisgarh COVID-19

Lockdown extended in Chhattisgarh: Decision to be taken after reviewing the circumstances on April 21 : Bhupesh Baghel

People in need who do not have ration card due to any reason are also being provided free ration of one month

Chief Minister appreciates patience, confidence,cooperation and awareness of people of the state towards prevention of COVID-19

Chief Minister appeals people to regularly wear masks, wash hands and practice physical distancing

We would defeat this pandemic with patience, discipline and confidence

Chief Minister addresses people of the state

Raipur, 15 April 2020 / Chief Minister Bhupesh Baghel has said in his message to people that for prevention of corona virus infection, lockdown period in Chhattisgarh has would be extended. Decision in this regard will be taken after reviewing the circumstances in state on April 21. The districts, where the situation is under control, will be provided relaxation as per the guidelines. For this, it is important that norms of lockdown are strictly followed in each district. Baghel appealed people to be particular about wearing masks, washing hands and practicing physical distancing regularly.
Chief Minister said that it is the first time in our lives when are experiencing a crisis like this, a testing time for our patience, trust and confidence. With cooperation of people in Chhattisgarh, situation of corona infection is under control. Chief Minister thanked people of the state for cooperation, patience and support they have shown in the first phase of lockdown. The sooner situation of corona virus infection comes under control in your district, the sooner you can expect relief from lockdown.
Chief Minister said in his message that State Government has pledged to ensure that no person has to go to sleep without food. Government has decoded to provide free ration to 56 lakh ration card holders in state. Issuance of new rations is also in progress at war footing. State Government has decided that in case any person in need does not have ration card due to any reason, they would be provided free ration of one month free of cost.
Baghel said that labourers, who had come to Chhattisgarh from other states and were engaged in construction and development works in the state, do not have to worry about going to their home towns. Baghel requested these labourers to consider Chhattisgarh as their home while they are here during lockdown period. State Government is making complete arrangements of food and stay facility for them.
Chief Minister said that the labourers of Chhattisgarh who are stranded in North India, Maharashtra, Telangana, Andhra Pradesh and other states are requested to stay there. Chhattisgarh is speaking to those state governments to food and stay arrangements for them. Helplines have been launched for helping labourers and nodal officers have also been appointed, who are constantly in touch with other state governments to help such people in need. They do not have to worry for their family members here, as state government is taking care of them as.

छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन अभी जारी रहेगा: 21 अप्रैल को समीक्षा के बाद परिस्थितियों के अनुरूप लिया जाएगा निर्णय: भूपेश बघेल

ऐसे जरूरतमंद लोग जिनके पास वर्तमान में किसी कारणवश राशनकार्ड नहीं हैं, उन्हें भी एक माह का राशन निःशुल्क प्रदान किया जायेगा

मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम में प्रदेशवासियों के संयम, आत्मविश्वास, सहयोग और जागरूकता को सराहा

नियमित रूप से मास्क पहनने, हाथ धोते रहने और फिजिकल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने की अपील

सबके संयम, अनुशासन और आत्मबल के सहारे ही इस महामारी को करेंगे परास्त

मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को किया संबोधित

रायपुर, 15 अप्रैल 2020 / मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जनता के नाम अपने संदेश में कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन छत्तीसगढ़ में अभी जारी रहेगा, 21 अप्रैल को कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति की समीक्षा के बाद परिस्थितियों के अनुरूप निर्णय लिया जाएगा। जिन जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण पर नियंत्रण होगा उन्हें गाइडलाइंस के मुताबिक छूट प्रदान की जायेगी। इसके लिये यह आवश्यक हैं कि हम अपने अपने जिलों में लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करें। हम सभी नियमित रूप से मास्क पहने, हाथ धोते रहे और फिजिकल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दंे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम में से अधिकांश के जीवन में इस तरह के संकट का सामना करने का यह पहला अवसर है। किंतु यही समय हमारे आत्मबल, संयम और विश्वास की परीक्षा का भी है। प्रदेशवासियों के सहयोग से छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस का संक्रमण नियंत्रण में है। लॉक डाउन के प्रथम चरण में सभी ने जो संयम, आत्मविश्वास और जागरूकता दिखायी है उन सबके लिए मैं आभार व्यक्त करता हूं। जितनी जल्दी आपका शहर, आपका जिला कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रण में रखेगा उतनी जल्दी आपको लॉक डाउन में छूट देने पर विचार किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा कि राज्य सरकार ने यह संकल्प लिया है कि इस संकट की घड़ी में हम छत्तीसगढ़ में किसी को भूखा नहीं सोने देंगे। राज्य में 56 लाख राशन कार्डधारियों को निःशुल्क राशन देने का फैसला किया गया। इनमें से लगभग सभी लोगों को लगभग दो माह का राशन निःशुल्क प्रदान किया गया है। नये राशन कार्ड बनाने का कार्य भी युद्धस्तर पर चल रहा है। राज्य सरकार ने यह भी तय किया है कि ऐसे जरूरतमंद लोग जिनके पास वर्तमान में किसी कारणवश राशनकार्ड नहीं हैं, उन्हें भी एक माह का राशन निःशुल्क प्रदान किया जायेगा ।
बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में अन्य राज्यों से श्रमिक या कामगार आये हैं और यहाँ के विकास में, निर्माण में लगे हैं। उन्हें अपने घर जाने के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। जब तक लॉक डाउन रहता है, तब तक छत्तीसगढ़ को ही आप अपना घर समझें। ऐसे सभी श्रमिकों के भोजन और अस्थायी आवास का पूरा प्रबंध राज्य सरकार कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के जो श्रमिक भाई-बहन उत्तर भारत, दिल्ली, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश या अन्य राज्यों में है, उन सभी से आग्रह है कि वो वहीं पर रहें। वहां की राज्य सरकारों से हमारी चर्चा लगातार हो रही है, सभी के रहने, भोजन और आवास के सभी प्रबंध किए जा रहे हैं। श्रमिकों की सहायता के लिए हेल्पलाइन की व्यवस्था की गई है और नोडल अधिकारी भी नियुक्त किए गए हैं, जो लगातार ऐसे लोगों की मदद के लिए संबंधित राज्य सरकारों के सम्पर्क में हैं। यहां रह रहे परिवारजनों के लिए भी चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है, उनका भी ख्याल रखा जा रहा है।
बघेल ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के टेस्ट के लिए एम्स रायपुर और जगदलपुर के अलावा अब मेडिकल कॉलेज रायपुर में भी सैम्पल टेस्ट की सुविधा प्रारम्भ की गई है। इससे ज्यादा टेस्ट करने में मदद मिलेगी। संकट के इस समय में अनेक स्वयंसेवी संस्थाएं और सामाजिक संगठन बढ़-चढ़कर लोगों की मदद कर रहे हैं। इन संस्थाओं का सहयोग अनुकरणीय और प्रेरणादायक है। इन संस्थाओं से आग्रह है कि स्थानीय प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर काम करें और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें। श्री बघेल ने प्रदेशवासियों से कोरोना संकट की घड़ी में सहयोग की अपील करते हुए उम्मीद जताई कि यह लड़ाई आप सभी के सहयोग से ही लड़ी जा रही है और सबके संयम, अनुशासन और आत्मबल के सहारे ही हम कोरोना वायरस महामारी को परास्त करेंगे।

About the author

Mazhar Iqbal #webworld

Indian Journalist Association
https://www.facebook.com/IndianJournalistAssociation/

Add Comment

Click here to post a comment

Follow us on facebook

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0504001