National

बिहार सरकार पत्रकारों के लिए मुफ्त यात्रा, आवासन, सुरक्षा और चिकित्सा की करे व्यवस्था – सेराज अहमद कुरैशी

डॉ. देवाशीष बोस की बेमिसाल पत्रकारिता ही कोसी त्रासदी को राष्ट्रीय आपदा घोषित होने का आधार बना था-विधि मंत्री

“द रिपब्लिकन टाइम्स” ने अपने संक्षिप्त सफर में ही अपनी अलग पहचान बनाई-विधि मंत्री

मधेपुरा, बिहार/ कोशी के पत्रकारिता के भीष्म पितामह चर्चित पत्रकार स्मृति शेष डॉ देवाशीष बोस की  जयंती के अवसर पर मुख्यालय के झल्लू बाबू सभागार में आयोजित इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन बिहार इकाई के तत्वावधान में डिजिटल हिंदी वेब न्यूज पोर्टल “द रिपब्लिकन टाइम्स” के द्वितीय स्थापना दिवस, पत्रकार सम्मान समारोह सह तृतीय प्रदेश सम्मेलन का उद्घाटन सूबे के कानून व लघु सिंचाई मंत्री नरेंद्र नारायण यादव, प्रभारी डीएम शिव कुमार शैव, डीडीसी विनोद कुमार, इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी, “द रिपब्लिकन टाइम्स” मुख्य संरक्षक याहिया सिद्दीकी और प्रधान संपादक रजिउर रहमान ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर किया।
           इससे पूर्व कानून मंत्री व अन्य अतिथियों ने डॉ बोस की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें याद किया। “द रिपब्लिकन टाइम्स” के मुख्य संरक्षक याहिया सिद्दीकी ने स्वागत भाषण देते हुए कार्यक्रम के महत्व पर प्रकाश डाला और गायिका शशि प्रभा जयसवाल ने स्वागत गीत गाकर अतिथियों का स्वागत किया। जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने विधि मंत्री, मुख्य संरक्षक याहिया सिद्दीकी ने प्रभारी डीएम, प्रधान संपादक रजिउर रहमान तथा अतिथि संपादक प्रसन्ना सिंह राठौर और उप संपादक अमित कुमार अंशु ने परम्परागत तरीके से  बैच, अंगवस्त्र व स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया। तदोपरांत उद्घाटन भाषण करते हुए सूबे के कानून मंत्री ने कहा कि समय गुजर जाता है लेकिन  यादें रह जाती हैं। उन्होंने कहा कि  डॉ बोस ऐसे व्यक्तित्व थे कि उनके गुजर जाने के बाद भी उनके कार्य उन्हें जिंदा रखे हुए है। कोशी में खोजी पत्रकारिता के पर्याय रहे डॉ बोस की ईमानदार पत्रकारिता थी, जिसमें समर्पण झलकता था।
डॉ देवाशीष बोस की बेमिसाल पत्रकारिता ही कोसी त्रासदी को राष्ट्रीय आपदा घोषित होने का आधार बना था-विधि मंत्री
       पत्रकारों द्वारा की गई मांगों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा की सरकार व सूबे के मुखिया भी पत्रकारों की सुविधा को लेकर तत्पर हैं। उन्होंने कहा की सभी पत्रकार बन्धुओं को चाहिए की पत्रकारिता को हमेशा बेदाग छवि प्रदान करें और आम आवाम की आवाज बनें। इस अवसर पर उन्होंने अपील करते हुए कहा कि अपने स्तर से लोगो को जल जीवन हरियाली को लेकर प्रेरित करें क्योंकि मात्र इसी पहल से जलवायु परिवर्तन के दुष्परिणामों को रोका जा सकता है। मौके पर विभिन्न क्षेत्रों की नामचीन प्रतिभाओं को सम्मानित करते हुए उन्होंने कहा कि सभी अपने अपने क्षेत्र में अपना योगदान देकर समाज में आदर्श कायम करें।
वेब न्यूज पोर्टल निष्पक्ष पत्रकारिता का बड़ा मंच है, यह आमलोगों सशक्त आवाज है। लिहाजा आमलोगों को वेब पोर्टल्स को आर्थिक सहयोग प्रदान करना चाहिए – प्रभारी जिलाधिकारी
      कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए प्रभारी जिला पदाधिकारी शिव कुमार शैव ने प्रिंट की शुरुआत, पत्रकारिता के इतिहास से लेकर वर्तमान दौर तक के सफर पर चर्चा करते हुए कहा कि सच्चे अर्थों में प्रिंट ने ही पत्रकारिता को जन्म दिया है। फ्रांस व रूस की क्रांति ने इसको वृहद स्तर प्रदान किया। उन्होंने कहा कि  पत्रकारिता समाज में अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने का कार्य करती है। प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि वेब न्यूज पोर्टल निष्पक्ष पत्रकारिता का बड़ा मंच है, यह आमलोगों सशक्त आवाज है। लिहाजा आमलोगों को वेब पोर्टल्स को आर्थिक सहयोग प्रदान करना चाहिए ।
 अन्य राज्यों की तर्ज पर बिहार में भी पत्रकारों को सभी सुविधाएं प्राप्त हो- राष्ट्रीय अध्यक्ष IJA
          मुख्य अतिथि इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी ने कहा कि पत्रकार होना एक दुरूह कार्य होता है, जिसमें समर्पण के साथ हर कुछ दाव पर लगा रहता है लेकिन उसके लिए सरकारी स्तर पर कोई यात्रा, इलाज, आवासन इत्यादि की व्यवस्था नहीं होती है। उपस्थित विधि मंत्री से उन्होंने मांग किया की अन्य राज्यों की तर्ज पर बिहार में भी उन्हें सुविधाएं प्राप्त हो। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि वर्तमान समय में पत्रकारिता काफी कठिन हो गई है, खबरों के संकलन के दौरान हमला और हत्या आम बात हो गई है। इस अवसर पर उन्होंने उपस्थित पत्रकारों से अपील करते हुए कहा कि अपनी कलम को स्वतंत्र रखे जिससे समाज की सच्चाई उपेक्षित न हो।

पत्रकारिता को पत्रकार अंजाम तक ले तो जाता है लेकिन अपने परिवार की जरूरतें पूरा करने में खासी परेशानी उठानी पड़ती है। साथ ही कई स्तरों पर अनेकानेक समस्याओं से गुजरना पड़ता है। पत्रकारों के प्रति समाज को ऋणी होना चाहिए
         कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जदयू के प्रो सुजीत कुमार, डॉ नीलकांत, द रिपब्लिकन टाइम्स के वरीय उप संपादक शशि कान्त झा(किशनगंज) , कौनेन बशीर जिला अध्यक्ष मधेपुरा, उप संपादक अमित कुमार अंशु(जिला उपाध्यक्ष), मधेपुरा ब्यूरो नियाज अहमद, मुजफ्फरपुर ब्यूरो अंजुम शहाब(जिला अध्यक्ष मुजफ्फरपुर) , सुपौल ब्यूरो रज़ा मुराद(प्रदेश काउंसिल सदस्य), वरीय संवाददाता आरिफ आलम, इरशाद आदिल, संवाददाता गुलजार आलम, मुजाहिद आलम, आकाशदीप, प्रिंस कुमार मिठ्ठू, प्रशांत कुमार, आकाश कुमार बबलू, अमन कुमार, राकेश रंजन, ETV भारत के मधेपुरा प्रतिनिधि गौरव तिवारी,पुरैनी प्रखंड अध्यक्ष शैलेन्द्र पासवान, जदयू नेता नरेश पासवान, कुंदन यादव, छात्र जाप के महासचिव इंजीनियर मुरारी, मेराज, सावंत रवि, आदि ने डॉ. बोस को याद करते हुए उन्हें पत्रकारिता का आइना बताया।

Follow us on facebook

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0493243