Chhattisgarh

क्रेता-विक्रेता सम्मेलन के आयोजन का छत्तीसगढ़ के कृषकों को मिल रहा लाभ

किसान उत्पाद कंपनी ने की पांच टन सीताफल की बिक्री: कृषि मंत्री ने दी बधाई

छत्तीसगढ़ के कृषि, उद्यानिकी एवं वनोपज सहित हैण्डलूम-कोसा आदि विविध उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर प्रोत्साहन एवं विक्रय को बढ़ावा देने के लिए राजधानी रायपुर में 20 सिंतबर से 22 सिंतबर तक होटल सयाजी में तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रेता-विक्रेता सम्मेलन का आयोजन किया गया था। इस सम्मेलन का आयोजन कृषि, हैण्डलूम और हस्तशिल्प उत्पादों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बाजार उपलब्ध कराना और किसानों और कृषि उत्पाद से जुड़े विभिन्न संगठनों को आपस में जोड़ना था। क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में छत्तीसगढ़ में बहुतायत में उत्पादित होने वाले विभिन्न किस्म के चावल, लघु वनोपजों और ग्रामोद्योग उत्पादों के अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर बाजार उपलब्ध कराने के लिए अनेक अनुबंध किए गए थे। क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में देश-विदेश से आए हुए क्रेताओं ने राज्य के किसानों से चर्चा की, उनके उत्पाद देखे तथा भविष्य में खरीदी के लिए अनुबंध किए।

इसी क्रम में अनुबंध व्यावहारिक व्यापार में बदल रहे हैं तथा अनुबंध व्यावहारिक विक्रय का स्वरूप ले रहे हैं। महानदी किसान उत्पाद कंपनी प्रायवेट लिमिटेड कांकेर ने इसी क्रम में पांच टन सीताफल की बिक्री की है। कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने कंपनी के अध्यक्ष श्री बाबूलाल साहू एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नगीना नेताम को बधाई दी है। महानदी किसान उत्पादक कंपनी प्रायवेट लिमिटेड कांकेर द्वारा कृषि कार्य, पशुपालन, वनोपज की खरीदी-बिक्री तथा मूल्य संवर्धन के कार्य भी किए जाते हैं।

Follow us on facebook

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0504005