National Politics कर्नाटक कांग्रेस पार्टी

कर्नाटक में कांग्रेस ने जादुई आंकड़ा किया पार, चुनाव में इन मुद्दों ने किया कमाल

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए सभी 224 सीटों के लिए मतगणना जारी है और रुझानों में मल्लिकार्जुन खड़गे के नेतृत्व वाली कांग्रेस पार्टी ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है. कांग्रेस की बढ़त के बाद इस बात की चर्चा होने लगी है कि किन मुद्दों ने कमाल किया और कौन से मुद्दे फेल हो गए. तो चलिए आपको बताते हैं कि कर्नाटक में क्या चला और क्या नहीं चला? बता दें कि कर्नाटक की 224 सीटों के लिए 10 मई को मतदान हुए थे और 73.19 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने वोट डाले थे.

कर्नाटक में क्या चला?

भ्रष्टाचार का मुद्दा- कांग्रेस ने कर्नाटक में भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया था और पार्टी ने शुरुआत से ही बीजेपी सरकार को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर लगातार घेरती रही. चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस ने कर्नाटक में बीजेपी सरकार के भ्रष्टाचार के मुद्दों को जमकर उछाला और लगातार निशाना साधा.

पीएम पर सीधा अटैक- कांग्रेस ने चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर सीधा हमला बोला और इसका फायदा कांग्रेस पार्टी को मिला. कांग्रेस ने बहुमत के आंकड़े 113 सीट को पीछे छोड़ दिया है और 121 सीटों पर पार्टी उम्मीदवार आगे चल रहे हैं.

अमूल vs नंदिनी- कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान अमूल vs नंदिनी का मुद्दा छाया रहा. बता दें कि इस साल 5 अप्रैल को गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (GCMMF) ने कर्नाटक में अमूल के प्रोडक्ट उतारने की घोषणा की. इस घोषणा के बाद राज्य में यह मुद्दा शुरू हो गया और कर्नाटक के कई नेताओं और लोगों ने विरोध शुरू कर दिया.

40 प्रतिशत कमीशन का मुद्दा- कांग्रेस ने कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौान सबसे बड़ा नारा 40 प्रतिशत कमीशन वाली सरकार का दिया. चुनाव प्रचार के दौरान पोस्टर और रैलियों में इस मुद्दे का खूब जिक्र भी हुआ. बता दें कि बेलगावी में एक ठेकेदार ने बीजेपी के मंत्री 40 फीसदी कमीशन मांगने का आरोप लगाया था और खुदकुशी कर ली थी. इसके बाद कई ठेकेदार सामने आए थे और कॉन्ट्रैक्टर एसोसिएशन ने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा था.

कर्नाटक चुनाव में क्या नहीं चला?

बजरंगबली का मुद्दा- कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी ने बजरंगबली का मुद्दा उठाया था और इसके जरिए चुनाव में जीत हासिल करना चाहती थी. दरअसल, कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में बजरंग दल पर बैन लगाने की बात की थी, जिसके बाद बीजेपी ने इसे बजरंगबली से जोड़ दिया था। कर्नाटक विधानसभा चुनाव की मतगणना जारी है. जिसमें कांग्रेस को लगातार बढ़त मिल रही है. चुनाव आयोग के मुताबिक अब तक कांग्रेस बहुमत का आंकड़ा पार करते हुए 115 पर पहुंच गई है. वहीं भाजपा 73 और जेडीएस 29 सीटों पर कब्जा कर पाई है. वहीं 5 सीट अन्य के खाते हैं गई है. कांग्रेस को 43.1%, भाजपा को 36.2% और जेडीएस को 12.8% वोट मिलते दिख रहे हैं. इस बीच कांग्रेस ने अपनी रणनीति को अंतिम रूप दे दिया है. कांग्रेस ने कर्नाटक में 10 से ज्यादा चार्टड प्लेन बुक किए हैं. रुझान देख कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों को बेंगलुरु बुलाया है. जीत की संभावना वाले उम्मीदवारों को लाने के लिए इन हेलीकॉप्टरों की बुकिंग की गई है. अब परिणाम भी समाने आने लगे हैं. कर्नाटक के मौजूदा सीएम बसवराज बोम्मई जीत गए हैं. वहीं कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने जीत दर्ज कर ली है. कांग्रेस को मिल रहे बहुमत को देखते हुए अब पार्टी सेफ साइड खेलती नजर आ रही है. सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस ने अपने विधायकों को बेंगलुरु पहुंचने को कहा है. जानकारी मिली है, कांग्रेस ने हैदराबाद में रिसोर्ट बुक करा लिया है. दूसरी ओर ये भी जानकारी सामने आ रही है कि कांग्रेस ने हैदराबाद में रिसोर्ट बुक करा लिया है. वहीं जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि भाजपा या कांग्रेस किसी भी पार्टी ने उनसे संपर्क नहीं किया है. इधर कांग्रेस की जीत से आश्वस्त कार्यकर्ताओं ने पार्टी कार्यालय के बाहर झंडा लहराया. वहीं बेंगलुरु में कांग्रेस के समर्थक माउंट कार्मेल कॉलेज में जश्न मना रहे हैं. AICC मुख्यालय के बाहर भी कांग्रेस समर्थकों में उत्साह देखा जा रहा है. कार्यकर्ता जश्न में डूबे है।

About the author

Mazhar Iqbal #webworld

Indian Journalist Association
https://www.facebook.com/IndianJournalistAssociation/

Add Comment

Click here to post a comment

Live Videos

Breaking News

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0489332