Chhattisgarh Education State

उद्योग मंत्री लखमा ने प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को किया सम्मानित

उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि ज्ञान-विज्ञान के इस आधुनिक दौर में पढ़े-लिखों का भविष्य ज्यादा अच्छा है। पढ़े-लिखे व्यक्ति हर परिस्थिति से निकलकर विकास के रास्ते में तेजी से आगे बढ़ते हैं। श्री लखमा आज बल्देव प्रसाद मिश्र शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बसंतपुर में आयोजित जिला स्तरीय मेधावी छात्र-छात्रा प्रतिभा सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। समारोह का आयोजन सजग प्रहरी युवा मंच राजनांदगांव द्वारा स्कूल के शहीद विनोद चौबे मेमोरियल ऑडिटोरियम में किया गया। समारोह में वर्ष 2019 में 10वीं और 12वीं परीक्षा में जिले के टॉप टेन में शामिल छात्र-छात्राओं तथा वर्ष 2017 और वर्ष 2018 में आयोजित राष्ट्रीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतने वाले जिले के छात्र-छात्राओं को ट्राफी प्रदान कर सम्मानित किया गया। उद्योग मंत्री श्री लखमा के साथ अन्य अतिथियों ने मां सरस्वती और स्वामी विवेकानंद के चित्र के समक्ष दीप प्रजवलित कर समारोह का शुभारंभ किया गया। उद्योग मंत्री श्री लखमा ने बच्चों को प्रेरित करते हुए कहा कि पढना-लिखना, खेलना और आगे बढ़ना उनका मुख्य ध्येय होना चाहिए। बच्चों को स्कूली जीवन के दौरान हर रचनात्मक गतिविधियों में शामिल होना चाहिए ताकि उनके व्यक्तित्व का सही विकास हो। श्री लखमा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने खेलों और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित कर उन्हें आगे बढ़नेे का मौका दिया है। ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चे भी अब खेलों में तेजी से आगे आ रहे हैं। खेल के क्षेत्र में भी छŸाीसगढ़ का नाम देश में रौशन हुआ है। उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी को मजबूत बनाने के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों को गरम भोजन दिया जा रहा है। कुपोषित बच्चों को सुपोषित बनाने मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान गांधी जयंती 2 अक्टूबर से शुरू किया गया है। इसके बेहतर परिणाम भविष्य में आएंगे। श्री लखमा ने इस अवसर पर राजनांदगांव के पुलिस अधीक्षक रहे शहीद विनोद चौबे को याद भी किया। समारोह को जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती चित्रलेखा वर्मा, उपाध्यक्ष श्री सुरेन्द्र दास वैष्णव, पार्षद श्री कुलबीर छाबड़ा ने भी संबोधित किया। उन्होंने सम्मानित सभी बच्चों को बधाई और शुभकामनाएं दी तथा उनके उजवल भविष्य की कामना की। उन्होंने सजग पहरी युवा मंच के आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से बच्चों का उत्साह बढ़ता है और उन्हें बेहतर परिणाम लाने की प्रेरणा मिलती है। समारोह में डॉ. बल्देव प्रसाद मिश्र शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल तथा एकलव्य आवासीय विद्यालय पेण्ड्री राजनांदगांव के बच्चों ने आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। स्वागत उद्बोधन सजग पहरी के श्री उमेश साहू ने दिया।
छात्राओं ने प्रस्तुत किया राज्यगीत ‘अरपा पैरी के धार’
समारोह में उपस्थित सभी लोगों ने खड़े होकर किया सम्मान- समारोह में छात्राओं ने मधुर स्वर में राज्यगीत ‘अरपा पैरी के धार’ प्रस्तुत किया। राज्यगीत के सम्मान में समारोह में उपस्थित सभी लोग खड़े हो गए। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा 3 नवम्बर को राज्योत्सव के अलंकरण समारोह के अंतिम दिन छŸाीसगढ़ी गीत ‘अरपा पैरी के धार’ को राज्य गीत का दर्जा देने की घोषणा की गई। उसके बाद से विभिन्न कार्यक्रमों में राज्यगीत गाया जा रहा है। डॉ. नरेन्द्र देव वर्मा द्वारा रचित इस गीत में दुर्ग और बस्तर को करधन की संज्ञा दी गई है। दुर्ग जिले से अलग होकर नया जिला बने राजनांदगांव को नवा करधन के रूप में विभूषित किया गया है। गीत लिखे जाने से पहले 26 जनवरी 1972 को राजनांदगांव नया जिला बन गया था। कार्यक्रम का संचालन श्री शरद श्रीवास्तव ने किया।
समारोह में जिला पंचायत सदस्य श्रीमती विभा साहू, श्रीमती कांति बंजारे, श्रीमती मधु साहू, जनपद पंचायत राजनांदगांव के उपाध्यक्ष श्री अंगेश्वर देशमुख, पार्षद श्रीमती हेमा देशमुख सहित श्री रमेश खण्डेलवाल सहित समारोह आयोजन समिति के श्री शशी देवांगन, श्री प्रमोद शेण्डे, श्री केएस ठाकुर सहित अन्य जनप्रतिनिधि, स्कूली बच्चे बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0126709