Chhattisgarh COVID-19

ममता नही भूली अपनी परंपरा व संस्कृति

तरुण कौशिक, कार्यकारी संपादक, डिसेंट रायपुर अखबार

रायपुर/ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हमारी छत्तीसगढ़िया परंपरा, संस्कृति और रिती रिवाज को बचाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं ।आज एक छोटा सा व्यक्ति किसी बड़े पद पर पहुंच जाते हैं तो उन्हें पद का अहंकार हो जाता हैं लेकिन हमारे छत्तीसगढ़ में एक ऐसा विधायक है जो अपनी परंपरा, संस्कृति और रिती रिवाज के साथ ही अपनी सामाजिक कार्यों को नहीं भूली ,वह कोई और नहीं बल्कि कांग्रेस के पंडरिया विधायक ममता चंद्राकर हैं जो एक शादी समारोह में महिला मेहमानों के साथ भोजन बनाने में लगी हुई हैं।
छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े विधानसभा पंडरिया क्षेत्र क्रंमाक 71 के प्रथम महिला एवं अभी तक से सबसे ज्यादा रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल कर विधायक बनने का गौरव प्राप्त करने वाली अति लोकप्रिय अल्प समय मे अपने विधानसभा क्षेत्र मे सभी के दिलो मे राज करने वाली मिलनसार मृदुलभाषी विधायक श्रीमति ममता चन्द्राकर जी विधायक जैसे महत्वपूर्ण पद पर पहुंचने की बाद भी नहीं बदली न ही अपनी संस्कृति,एवं परंपरा को भूली इसका जीता जागता उदाहरण है आज अपने परिवार के यहां विवाह कार्यक्रम मे शामिल होने गई है जहां अहम भाव को दरकिनार कर अपनों के हाथ बटाते हुए गृह कार्य कर रही एवं भोजन पकाने मे सहयोग कर रही विधायक ममता चन्द्राकर के इस कार्य की चर्चा पूरे छत्तीसगढ़ राज्य में बना हुआ है।

About the author

Mazhar Iqbal #webworld

Indian Journalist Association
https://www.facebook.com/IndianJournalistAssociation/

Add Comment

Click here to post a comment

Follow us on facebook

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0503980