New Dehli

केजरीवाल सरकार ने ‘स्विच दिल्ली अभियान’ शुरू किया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि से हम ‘स्विच दिल्ली अभियान’ (Switch Delhi Campaign) शुरू कर रहे हैं। इस अभियान में लोगों को इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति जागरूक किया जाएगा। केजरीवाल ने कहा कि हमें दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को काफी कम करना है और हमारा लक्ष्य है कि 2024 तक दिल्ली में जितने वाहन खरीदे जाते हैं उसमें 25% वाहन इलेक्ट्रिक हों। लोग ज्यादा इलेक्ट्रिक वाहन खरीदें इसके लिए दिल्ली सरकार ने बड़े स्तर पर सब्सिडी की योजना बनाई है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि स्वच्छ वाहनों के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए दोपहिया और तिपहिया वाहनों के लिए 30,000 रुपये की सब्सिडी और 4-व्हीलर्स के लिए 1.5 लाख रुपये तक की सब्सिडी दी जा रही है। इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए कोई रोड टैक्स और रजिस्ट्रेशन फीस भी नहीं है।

सब्सिडी के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों के 100 से अधिक मॉडलों को मंजूरी

बता दें कि दिल्ली सरकार ने नई इलेक्ट्रिक वाहन पॉलिसी (Electric Vehicle Policy) के तहत सब्सिडी के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों के 100 से अधिक मॉडलों को मंजूरी दी हुई है। इनमें 45 ई-रिक्शा मॉडल और 12 चार पहिया मॉडल शामिल हैं। नई इलेक्ट्रिक वाहन पॉलिसी के तहत 15 लाख रुपये तक की कीमत वाले वाहन सब्सिडी के पात्र होंगे। इसके अलावा रोड टैक्स और रजिस्ट्रेशन फीस में छूट होगी। 15 लाख रुपये से अधिक कीमत वाले इलेक्ट्रिक वाहनों को सब्सिडी नहीं मिलेगी, लेकिन वे रोड टैक्स और रजिस्ट्रेशन फीस में छूट के लिए पात्र होंगे। बीते दिनों दिल्ली के परिवन मंत्री कैलाश गहलोत ने राजधानी में 70 चार्जिंग स्टेशनों के नेटवर्क के साथ-साथ अनुमोदित मॉडल, डीलरों, सब्सिडी संवितरण प्रक्रिया के विवरण के साथ एक वेबसाइट ev.delhi.gov.in जारी की थी।
इलेक्ट्रिक वाहनों के 100 स्वीकृत मॉडल में 45 ई-रिक्शा, 14 दोपहिया और चार-पहिया के 12 मॉडल शामिल हैं। उन्होंने यह भी कहा कि 36 ई-वाहन निर्माताओं को शहर भर में 98 डीलरों के नेटवर्क के साथ पंजीकृत किया गया है। गहलोत ने कहा था कि सब्सिडी भुगतान की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वाले किसी व्यक्ति को सब्सिडी का दावा करने के लिए वाहन की बिक्री चालान, उसका आधार नंबर और कैंसिल चेक की आवश्यकता होगी। डीलर वेबसाइट के माध्यम से सब्सिडी के दावे को संसाधित करेगा। दावों का सत्यापन मोटर लाइसेंसिंग अधिकारियों द्वारा किया जाएगा और सब्सिडी भुगतान के लिए बैंकों को भेजा जाएगा।
मंत्री ने कहा कि नई पॉलिसी के अधिसूचित होने पर सब्सिडी 7 अगस्त 2020 से लागू होगी। रोड टैक्स और रजिस्ट्रेशन फीस छूट 10 अक्टूबर और 15 अक्टूबर से लागू होगी। उन्होंने कहा कि सब्सिडी दावे के प्रोसेस के प्रत्येक चरण में डीलर से लेकर बैंक तक, खरीदार एसएमएस के माध्यम से अपडेट प्राप्त करेंगे। अधिकारियों ने कहा कि ईवी नीति के तहत, दिल्ली सरकार दोपहिया, ऑटो, ई-रिक्शा और माल वाहक के लिए 30,000 रुपये तक का प्रोत्साहन देगी, जबकि इलेक्ट्रिक कारों की खरीद के लिए 1.5 लाख रुपये की सब्सिडी प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि तीन दिनों के भीतर सब्सिडी की राशि ई-वाहन खरीदने वाले के खाते में जमा की जाएगी।

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0320575