Digital Entertainment

कॉलर ट्यून में अमिताभ बच्चन…, हटाने की मांग, दिल्ली हाईकोर्ट में दायर याचिका

कॉलर ट्यून में अमिताभ बच्चन बोल रहे- नमस्कार, हमारा देश और पूरा विश्व आज कोविड-19 की चुनौती का सामना कर रहा है. कोविड-19 अभी खत्म नहीं हुआ है, ऐसे में हमारा फर्ज है कि हम सतर्क रहें. इसलिए जब तक दवाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं…..
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए देश में जब लॉकडाउन हुआ था तब से ही किसी को फोन करने पर सबसे पहले एक आवाज सुनने को मिल रही है. इसमें कोरोना से कैसे बचा जाए और कैसे सावधानी बरती जाए इसे लेकर जागरुक किया गया है. इसके कुछ समय बाद अमिताभ बच्चन की आवाज में वो कॉलर ट्यून सुनाई देने लगी.
दिल्ली हाईकोर्ट में दायर की गई जनहित याचिका……
अब दिल्ली हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है, जिसमें अभिनेता अमिताभ बच्चन की आवाज़ में कोविड 19 जागरूकता वाली कॉलर ट्यून को हटाने की मांग की गई है. याचिका में कहा गया है कि अमिताभ बच्चन इस काम के लिए भारत सरकार से पैसे ले रहे हैं, जबकि देश में ऐसे बहुत सारे कोरोना वॉरियर मौजूद हैं, जिन्होंने कोरोना काल में आम लोगों की हर तरह से मदद की है. ऐसे में कोविड-19 जागरूकता कार्यक्रम के लिए मोबाइल पर कॉलर ट्यून अमिताभ बच्चन की जगह उन लोगों की लगाई जानी चाहिए जिन्होंने करोना काल में समाज के लिए सेवा की है. इस याचिका में कहा गया है कि कोरोना काल में समाज सेवक के रूप में काम करने वाले कोरोना वॉरियर्स को मोबाइल की कॉलर ट्यून में कोविड-19 जागरूकता कार्यक्रम के तहत हिस्सेदारी दी जानी चाहिए. इस काम के लिए ये कोरोना वॉरियर्स अमिताभ बच्चन की तरह केंद्र सरकार से कोई पैसा भी नहीं लेंगे. अपनी सेवाएं मुफ्त देंगे और समाज के लिए पहले ही कोरोना पीड़ितों की मदद करके एक मिसाल कायम कर चुके हैं.
दिल्ली हाईकोर्ट ने इस याचिका को सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है. इस याचिका को राकेश नाम के व्यक्ति के द्वारा लगाया गया है. हाईकोर्ट में ये याचिका एडवोकेट एके दुबे और पवन कुमार के माध्यम से दायर की गई है.

18 जनवरी को होगी सुनवाई
इस याचिका में ये भी कहा गया है कि अमिताभ बच्चन सामाजिक कार्यकर्ता नहीं है और ना ही उन्होंने कोविड-19 जागरूकता अभियान में राष्ट्र की सेवा करने के लिए कोई भागीदारी की है. बल्कि इसके लिए उनको सरकार के द्वारा मेहनताना दिया गया है. लिहाजा मोबाइल के कॉलर ट्यून पर अमिताभ बच्चन की आवाज को हटाया जाना चाहिए. दिल्ली हाईकोर्ट ने जनहित याचिका पर 18 जनवरी को सुनवाई करेगा.

क्या है कॉलर ट्यून में?
कॉलर ट्यून में अमिताभ बच्चन बोल रहे- नमस्कार, हमारा देश और पूरा विश्व आज कोविड-19 की चुनौती का सामना कर रहा है. कोविड-19 अभी खत्म नहीं हुआ है, ऐसे में हमारा फर्ज है कि हम सतर्क रहें. इसलिए जब तक दवाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं. दो गज दूरी, मास्क है जरूरी. कोरोना से बचाव के लिए जरूरी है, नियमित रूप हाथ धोना, मास्क पहनना और आपस में उचित दूरी बनाए रखना……
बता दें कि कोरोना वायरस का खतरा अभी भी पूरी तरह टला नहीं है. कोरोना महामारी के बीच देश में कोविशील्ड और कोवैक्सीन को मिल अनुमति मिल चुकी है. अमिताभ की बात करें तो बता दें कि अमिताभ इन दिनों केबीसी होस्ट कर रहे हैं. वो सोशल मीडिया पर भी बहुत एक्टिव हैं. फिल्मों की बात करें तो उनका हाथ में कई सारे प्रोजेक्ट हैं. वो अयान मुखर्जी की ब्रह्मास्त्र में नजर आने वाले हैं. इस फिल्म में रणबीर कपूर औ आलिया भट्ट लीड रोल में हैं. इसके अलावा वो चेहरे, झुंड जैसी फिल्मों में भी दिखेंगे.

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0229550