COVID-19 Health

हज़ारों बीमारियों को दावत देता है मोटापा, इसीलिए फैट से फाइट जरूरी है

*मो* टापा ना सिर्फ शरीर को बेडौल बनाता है बल्कि कई बीमारियों को आमंत्रित भी करता है क्या बड़े और छोटे हर आयु के लोग मोटापे की समस्या से परेशान है और इसका मुख्य कारण है खानपान की अनियमितता और आराम पसंद जीवन शैली मोटापे से डायबिटीज ही नहीं ब्लड प्रेशर हृदयरोग ब्रेन स्ट्रोक कैंसर अनिद्रा जोड़ो एवं घुटनों की बीमारियां होती हैं यानी मोटापा कई बीमारियों का पिटारा भी है आप में से ऐसे कितने ही लोग होंगे जो मोटापा कम करने के लिए स्लिमिंग सेंटर जाते होंगे वजन कम करने के लिए तमाम तरीके अपनाए होंगे पर क्या यह तकनीकें आपके लिए परफेक्ट है क्या वाकई हमेशा के लिए फैट को कम कर देती हैं दावे जो भी हो पर आंखें बंद कर किसी पर भरोसा भी नहीं कर सकते चंद दिनों में वजन कम करने की चाहत में शरीर को कितना भुगतना पड़ता है इसका अंदाजा उस वक्त होता है जब अचानक घुटने या किसी दूसरे जोड़ें में दर्द शुरू हो जाता है अगर आप डाइटिंग और वजन कम करने के लिए दूसरे अतार्किक तरीकों से मनचाहा शेप प्राप्त कर भी लेते हैं तो भी संभव है कि उनसे जन्मी स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याओं के कारण क्लीनिक के आपको और भी ज्यादा चक्कर लगाना पड़े इसलिए कोई भी उपाय करने से पहले इसके बारे में जानना जरूरी होता है साइड इफेक्ट के बारे में जरूरी जान ले आजकल लोग वजन घटाने के लिए वेट लूज इंजेक्शन कैप्सूल ड्रग्स आदि का भी इस्तेमाल करने लगे हैं जो कि यह बहुत गलत है क्योंकि यह दवाइयां अपना असर जल्दी दिखाती हैं इन दवाओं के प्रयोग से शरीर में पानी की कमी हो जाती है और आंतों में बसा नहीं जमती यानी आपको इतनी उर्जा नहीं मिलती जो कि आमतौर पर किसी चीज को खाने से मिलती है इसके कारण आपका वजन कम होने लगता है इसका साइड इफेक्ट गौर करने वाला है कि वजन कम करने वाली जो दवाइयां विदेशों में प्रतिबंधित है वही हमारे देश में खुलेआम बेची जा रही हैं आपको शायद मालूम ना हो कि मोटापा कम करने वाली दवाओं के सेवन से लीवर को नुकसान होता है और गुर्दे में पथरी की शिकायत होने की आशंका भी बढ़ जाती है डायबिटीज उच्च रक्तचाप अवसाद तनाव अनिद्रा शारीरिक कमजोरी जैसी शिकायतें दिखने लगती हैं इसलिए बजन कम करने के लिए दवाओं का प्रयोग सोच विचार कर ही करें जरूरी है कि दवाओं का सेवन वजन कम करने के लिए किया ही ना जाए ज्यादा जरूरी है वर्कआउट करें स्कल्प जिम एंड एरोबिक्स की फिटनेस के मुताबिक अगर आपका बीएमआई 30 से ज्यादा है तो आपको नियमित एक्सरसाइज करनी चाहिए इससे आप फैट को बार्न कर सकती हैं मगर याद रखिए सिर्फ जिम जॉइन कर लेना ही काफी नहीं है बल्कि एक एक स्टेप को सही तरीके से करना भी जरूरी होता है साथ ही डाइट का भी ध्यान रखें रोजाना कम से कम 30 मिनट व्यायाम करें तो आप वजन को धीरे-धीरे कम कर सकती हैं वेट ट्रेनिंग वाटर एरोबिक्स और डांस अच्छे एक्सरसाइज है यह ना सिर्फ बॉडी को फिट रखते हैं बल्कि कार्डियो वैस्कुलर सिस्टम के लिए भी आदर्श है वजन को संतुलित रखने के लिए एरोबिक्स एक्सरसाइज ऐसे जोगिंग साइकिलिंग और तैराकी परफेक्ट हैं शारीरिक सक्रियता बढ़ती है संभव हो तो लंबी सैर पर जाएं इससे आपकी सेहत सुधरती है इसलिए रोजाना व्यायाम करें जिससे आप का पसीना निकले जैसे तेज चलना जोगिंग रस्सी कूदना साइकिल चलाना अगर आपने पहले कभी व्यायाम नहीं किया है तो पहले हल्के-फुल्के एक्सरसाइज करना शुरू करें शुरुआती दौर में थोड़ी देर एक्सरसाइज करें फिर बाद में धीरे-धीरे समय बढ़ाए शारीरिक स्वास्थ्य के साथ ही मानसिक तौर पर भी व्यक्ति और दुरुस्त रहता है यह सच है कि लोगों की शारीरिक गतिविधियां पहले की अपेक्षा कम हो गई है एक्सरसाइज या अन्य कोई शारीरिक एक्टिविटी नहीं करेंगी तो बीमारियों से खुद को बचा पाना मुश्किल ही होगा रोजाना एक्सरसाइज कर पाना संभव ना हो तो हफ्ते में 3 दिन एक्सरसाइज करें एक्सरसाइज की शुरुआत आप घर में भी कर सकती हैं योग आंतरिक स्वास्थ्य को हेल्दी बनाता है पावर योग सूर्य नमस्कार प्राणायाम से भले ही वजन कम ना हो पर यदि आप इसे नियमित रूप से करती है तो बेशक आप अंदर से गुड फील करेंगे यदि आप सूर्य नमस्कार के बारे में टाइप कर रही हैं तो इसका कुछ फर्क पड़ सकता है मगर मोटापे से पूरी तरह निजात नहीं दिलाएगा अगर आप कपालभाति प्राणायाम आदि के साथ संतुलित डाइट फॉलो करती हैं तो कुछ हद तक वजन को नियंत्रण में रख सकती है कोई भी आसन करने से पहले योग शिक्षक से पूरी जानकारी अवश्य लेनी चाहिए हम सब जैसे जानते ही हैं महिलाओं का सबसे ज्यादा जोर डाइटिंग पर ही होता है बिना सोचे समझे ही वे डाइटिंग शुरू कर देती हैं यह आपको बता दूं कि डाइटिंग करने के बजाय सही डाइट लेकर आप वजन कंट्रोल में रख सकती हैं डाइटिंग से फैटस कम तो होता है पर मसल्स व टिशयूज पर इसका बुरा असर पड़ता है इससे शरीर में कमजोरी आती है अगर आप एक्सरसाइज नहीं कर पा रही है तो हेल्दी खाने के जरिए अपनी डाइट में रोजाना कुछ कैलोरी कम कर वजन को घटा सकती हैं जैसे शुरुआत के पहले सप्ताह में लिक्विड आहार की मात्रा बढ़ाएं इसमें पानी और वेजिटेबल जूस शामिल कर सकती है अगर लो ब्लड प्रेशर किडनी आदि की समस्या नहीं हो तो दिन में 10 से 12 गिलास पानी ले सकती हैं सोने से तीन-चार घंटे पहले ही खाना खाकर चहल कदमी करें खाना खाकर तुरंत सोने से मोटापा बढ़ता है और रात का खाना बिल्कुल ही लाइट रखें खाने से फैक्ट्स को पूरी तरह से ना हटाए क्योंकि बॉडी में एनर्जी लेवल को बनाए रखने के लिए फैट भी जरूरी है यह टिश्यू रिपेयर और विटामिंस को बॉडी के सभी हिस्सों तक पहुंचाने के लिए जरूरी है डाइट प्लान में कम फैट वाले आहार शामिल करें जिसमें प्रोटीन व फाइबर की मात्रा ज्यादा हो या मायोनिज की जगह पुदीना और आंवले की चटनी ले सब्जियों जैसे टमाटर अदरक पालक का जूस लें सफेद तिल अलसी बीज की मात्रा ज्यादा ना रखें नारियल पानी काले चने का सूप नींबू पानी सब्जियों का सूप रूहअफजा बिना चीनी का सूप नींबू पुदीना पानी मूंग की धुली दाल का सूप बथुए का रायता शरीफा सूजी का दलिया वेजिटेबल दलिया दही के साथ ले साइड इफेक्ट डाइटिंग से वजन कम हो या ना हो लेकिन बाद में उसके साइड इफेक्ट जरूरी भुगतने पड़ते हैं कब्ज गैस बनाना हार्मोन प्रॉब्लम्स के साथ आंखों के नीचे काले घेरे स्किन का ढीला होना मेमोरी कम होना जैसी समस्याएं होती हैं किसी भी तरह का एक्सरसाइज शुरू करने के पहले या भोजन में किसी प्रकार की तब्दीली करने के पहले अपने डॉक्टर या डाइटिशियन से सलाह जरूर लें सबसे ज्यादा जरूरी है आप योग करें करे योग रहे निरोग आओ योग करें आओ योग करें शरीर से अपने रोग दूर करें आओ योग करें ।

अंजुम क़ादरी, ऊधम सिंह नगर, उत्तराखंड

About the author

Mazhar Iqbal

I J A

Add Comment

Click here to post a comment

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0206841